“अखरोट” के अनसुने फायदे एवं स्वास्थ लाभ : Health Benefits of Walnut in Hindi : Akhrot Ke fayde

0
467
Akhrot Ke fayde
Akhrot Ke fayde

“अखरोट” के अनसुने फायदे एवं स्वास्थ लाभ : Health Benefits of Walnut in Hindi : Akhrot Ke fayde

Health Benefits of Walnut in Hindi 

Akhrot Ke fayde


अखरोट के फायदे

अखरोट के पेड़ बहुत सुन्दर और सुगन्धित होते हैं, इसकी दो जातियां पाई जाती हैं। जंगली अखरोट 100 से 200 फीट तक ऊंचे, अपने आप उगते हैं। इसके फल का छिलका मोटा होता है। कृषिजन्य 40 से 90 फुट तक ऊंचा होता है और इसके फलों का छिलका पतला होता है। इसे कागजी अखरोट कहते हैं। इससे बन्दूकों के कुन्दे बनाये जाते हैं।

अखरोट को इंग्लीश मे walnut कहते हैं और इस ड्राइ फ्रूट्स को एक अच्छा brain food के साथ साथ एक स्वास्थ्यवर्धक पदार्थ  भी माना जाता है| भारत मे लोग अक्सर इसे चॉक्लेट, कूकीज, cake, ladoo, शेक आदि मे मिलकर बड़े शौंक से खाते हैं और पेरेंट्स अपने बच्चों का दिमाग तेज करने के लिए उन्हें  रोज अखरोट खाने की सलाह देते हैं

विभिन्न भाषाओं में नाम :
संस्कृत         शैलभव, अक्षोर, कर्पपाल अक्षोट, अक्षोड।
हिंदी           अखरोट।
बंगाली         आक्रोट आखरोट, आकोट।
मलयालम      अक्रोड।
मराठी          अखरोड, अक्राड़।
तेलगू           अक्षोलमु।
गुजराती        आखोड।
फारसी         चर्तिगज, गौज, चारमग्न, गिर्दगां।
अरबी           जौज।
अंग्रेजी          वलनट
लैटिन          जगलंस रेगिया

रंग : अखरोट का रंग भूरा होता है।

स्वाद : इसका स्वाद फीका, मधुर, चिकना (स्निग्ध) और स्वादिष्ट होता है।

स्वरूप : पर्वतीय देशों में होने वाले पीलू को ही अखरोट कहते हैं। इसका नाम कर्पपाल भी है। इसके पेड़ अफगानिस्तान में बहुत होते हैं तथा फूल सफेद रंग के छोटे-छोटे और गुच्छेदार होते हैं। पत्ते गोल लम्बे और कुछ मोटे होते हैं तथा फल गोल-गोल मैनफल के समान परन्तु अत्यंत कड़े छिलके वाले होते हैं। इसकी मींगी मीठी बादाम के समान पुष्टकारक और मजेदार होती है।

स्वभाव : अखरोट गरम व खुष्क प्रकृति का होता है।

दोषों को दूर करने वाला : अनार का पानी अखरोट के दोषों को दूर करता है।

तुलना : अखरोट की तुलना चिलगोजा और चिरौंजी से की जा सकती है।

अखरोट के औषधीय गुण निम्न हैं : Akhrot Ke fayde

अखरोट बहुत ही बलवर्धक है, हृदय को कोमल करता है, हृदय और मस्तिष्क को पुष्ट करके उत्साही बनाता है इसकी भुनी हुई गिरी सर्दी से उत्पन्न खांसी में लाभदायक है। यह वात, पित्त, टी.बी., हृदय रोग, रुधिर दोष वात, रक्त और जलन को नाश करता है

अखरोट मे सोडियम बहुत कम और कोलेस्टरॉल बिलकुल भी नहीं होता| इसमे भरपूर मात्रा मे ओमेगा-3 फॅटी एसिड्स (हेल्ती फॅट्स) पाए जाते हैं| इनके अलावा ये विटमिन्स जैसे विटामिन A, B6, B12, C,  D, E और K का खजाना होते हैं| इनमे प्रोटीन भी अच्छी मात्र में पाया जाता है| इसके अलावा मिनरल्स जैसे कॅल्षियम, मॅग्नीज़ियम, आयरन, फॉस्फरस, ज़िंक, कॉपर, manganese, selenium आदि भी प्रचुर मात्रा में होते हैं| इनके अतिरिक्त बहुत सारे antioxidants और दूरसे ज़रूरी पोषक तत्व और गुण पाए जाते हैं

अखरोट का सेवन कैसे करें?

अखरोट का सेवन 10 ग्राम से 20 ग्राम तक की मात्रा में कर सकते हैं।

अगले पेज पर पढ़ें अखरोट के फायदे एवं उपयोग

LEAVE A REPLY