Bhishma Pitamah Quotes In Hindi : भीष्म पितामह के सुविचार एवं अनमोल वचन

0
952
Bhishma Pitamah Quotes In Hindi
Bhishma Pitamah Quotes In Hindi

Bhishma Pitamah Quotes in Hindi, Bhishma Pitamah thoughts in hindi, Bhishma Pitamah ke Suvichar, Bhishma Pitamah ke  Anmol Vachan, Bhishma Pitamah Slogans in Hindi, Thoughts of Bhishma Pitamah In Hindi, Slogans of Bhishma Pitamah, Quotes By Bhishma Pitamah, Quotes By Bhishma Pitamah Best Quotes, भीष्म पितामह के सुविचार एवं अनमोल वचन

Bhishma Pitamah Quotes In Hindi

भीष्म पितामह के शुद्ध विचार एवं प्रसिद्ध कथन


शुद्ध विचार : “परिवर्तन इस संसार का अटल नियम है, और सब को इसे स्वीकारना ही पङता है; क्योकी कोई इसे बदल नही सकता”

शुद्ध विचार : “जो मनुष्य अपने माता-पिता की सेवा पुरे सद्भाव से करते है, उनकी ख्याति इस लोक मे ही नही बल्कि परलोक मे भी होती है”

शुद्ध विचार : “मोह और तृष्णा अत्यन्त ही कठोर और विनाशकारी होते है”

शुद्ध विचार : “एक शासक को अपने पुत्र और अपने प्रजा मे कोई भी भेदभाव नही रखना चाहिए; ये शासन मे अडिगता और प्रजा को समृध्दि प्रदान करता है”

शुद्ध विचार : “मोह मे फंसकर अधर्म का प्रतिकार न करने के कारण ही महाभारत जैसे युध्द से महान जन-धन की हानि हुई”

शुद्ध विचार : “अपने गुरु के प्रति आदर और प्रेम मनुष्य को विजयी और पुरुर्षाथी बनाती है”

शुद्ध विचार : “धर्म के कई द्वार हैं, संतजन उन मार्गों या रास्तों की बात करते हैं जो उन्हें मालूम होता है लेकिन सभी मार्गों का आधार आत्म संयम है”

शुद्ध विचार : “कठिन परिस्तिथियाँ आना इस जीवन च्रक का नियम है” बिना विचलित हुए इनका सामना करना ही सफलता का द्वार है”

शुद्ध विचार : “सत्य और धर्म अनुकरण करने पर एक लघु प्राणी चींटी भी हाथी से ज्यादा शक्तशाली हो जाता है”

शुद्ध विचार : “बङे से बङा शूरवीर भी अगर अधर्म और अन्याय का साथ देता है तो धर्म के आगे उसे अन्ततः झुकना ही पङता है”

शुद्ध विचार : “सत्ता सुख भोगने के लिए नही, अपितु कठिन परिश्रम करके समाज का कल्याण करने के लिए होता है”

शुद्ध विचार : “एक मनुष्य को अपनी मातृभूमि सर्वोपरि रखनी चाहिए; और हर परिस्थत मे उसकी रक्षा करनी चाहिए”

शुद्ध विचार : “समय अत्यधिक बलवान होता है, एक क्षण मे समस्त परिस्थितियाँ बदल जाती है”

शुद्ध विचार : “विधि के विधान के आगे कोई नही टिक सकता “ एक पुरुर्षाथी को भी वक्त के साथ मिट कर इतिहास बन जाना पङता है”

शुद्ध विचार : “जिसे सत्य पर विश्वास होता है, और जो अपने संकल्प पर दृढ होता है, उसका सदैव कल्याण होता रहता है”

शुद्ध विचार : “अपने आत्मबल, आत्म सार्मथ्य, विवेक, शालीनता और तेज से ही मनुष्य की पहचान होती है”

शुद्ध विचार : “जिसके साथ सत्य हो, उसके साथ धर्म है, और जिसके साथ धर्म हो, उसके साथ परमेश्वर है, और जिसके साथ स्वयं परमेश्वर हो उसके पास सब कुछ है”

Bhishma Pitamah Quotes In Hindi : “अगर परमेश्वर से कुछ माँगना है तो सिर्फ उनके प्रति निश्चल भक्ति माँगो” जिसके आ जाने मात्र से ही संसार का समस्त वैभव तुम्हारे पास रहेगा”

Bhishma Pitamah Quotes In Hindi : “सत्य, धर्म, सम्मान, आदि जगहो पे झुकने सेँ मनुष्य कीर्तिवान, और यशस्वी बन जाता है”

Bhishma Pitamah Quotes In Hindi : “अहंकार मानव का और मानव समाज का इतना बङा शत्रु है, जो सम्पुर्ण मानव जाति के कष्ट का कारण और अन्ततः विनाश का द्वार बनता है”

Bhishma Pitamah Quotes In Hindi : “पक्षियों के पदचिन्ह आकाश में दिखाई नहीं पड़ते, जलचर प्राणियों के पदचिन्ह भी जल में दिखाई नहीं पड़ते, उसी तरह ज्ञानियों की गतिविधियाँ भी जानी नहीं जा सकती”


Request : कृपया अपने comments के माध्यम से बताएं कि भीष्म पितामह के शुद्धविचार का यह संकलन आपको कैसा लगा

If you like Bhishma Pitamah Quotes In Hindi, its request to kindly share with your friends on FacebookGoogle+Twitter, and other social media sites

दोस्तों ऐसे अच्छे Post लिखने में काफी समय लगता है, आपके comments से हमारा Motivation Level बढ़ता है आप comment करने के लिए एक मिनट तो निकाल ही सकते है

Read Mega Collection of Best Hindi Quotes,Thoughts & Slogans from Great Authors : पढ़िए महापुरषों के सर्वश्रेष्ठ हिंदी शुद्ध विचारों और कथनों का अद्भुत संग्रह

List of all Hindi Quotes : सभी विषयों पर हिंदी शुद्ध विचारों का अद्भुत संग्रह


यह भी पढ़ें :

यह भी पढ़ें :

LEAVE A REPLY