चिरौंजी के अनसुने चमत्कारी फायदे : Health Benefits of Chironji in Hindi : Chironji Ke fayde

0
442
Chironji Ke fayde
Chironji Ke fayde

चिरौंजी के अनसुने चमत्कारी फायदे : Health Benefits of Chironji in Hindi : Chironji Ke fayde

Health Benefits of Chironji in Hindi 

Chironji Ke fayde


 चिरौंजी के फायदे

चिरौंजी के पेड़ विशाल होते हैं। चिरौंजी के पेड़ महाराष्ट्र, नागपुर और मालाबार में अधिक मात्रा में पाये जाते हैं। इसके पत्ते लम्बे-लंबे महुवे के पत्ते के समान मोटे होते हैं। इसकी पत्तल भी बनाई जाती है। इसकी छाया बहुत ही ठण्डी होती है। इसकी लकड़ी से कोई चीज नहीं बनती है। इसमें छोटे-छोटे फल लगते हैं। फलों के अन्दर से अरहर के समान बीज निकलते हैं। इसी को चिरौंजी कहा जाता है। चिरौंजी एक मेवा होती है। इसे विभिन्न प्रकार के पकवानों और मिठाइयों में डाला जाता है। इसका स्वाद मीठा होता है। इसका तेल भी निकलता है। यह बादाम के तेल के समान ठण्डा और लाभदायक होता है।

विभिन्न भाषाओं में नाम :

हिन्दी चिरौंजी
संस्कृत चार या राजादन
गुजराती चारोली
कर्नाटकी मोराप्य, मोरवे, मोरटी या चावलि
तमिल कारप्यारूक्कु
मलयालम मुरल
तेलगू चारुपप्पु या चारुमुंडी
फारसी बुकलेखाजा
अरबी हबुस्माना
लैटिन बेचेनेनियालेटी फोलिया

रंग : चिरौंजी सफेद और लाल रंग की होती है।

स्वाद : इसका स्वाद फीका, मीठा, स्वादिष्ट और चिकना होता है।

स्वरूप :  चिरौंजी के पेड़ महाराष्ट के कोंकण में अधिक पाये जाते हैं। इसके पत्ते छोटे नोकदार और खुरदरे होते हैं। इसके फल छोटे-छोटे बेर के समान नीले रंग के होते हैं। इसमें से जो मींगी निकलती है उसे ही चिरौंजी कहा जाता है।

स्वभाव : इसकी तासीर गर्म होती है।

 चिरौंजी के औषधीय गुण निम्न हैं : Chironji Ke fayde

चिरौंजी में 3।0% नमी, लिपिड / वसा (59।0%), प्रोटीन (19।0-21।6%), स्टार्च / कार्बोहाइड्रेट (12।1%), और फाइबर (3।8%) होता है। इसमें खनिज जैसे की कैल्शियम, फास्फोरस, लोहा और विटामिन जैसे थायामिन , एस्कॉर्बिक एसिड / विटामिन सी, राइबोफ्लेविन, नियासिन आदि होते है।

  • चिरौंजी बीज, कैलोरी में अपेक्षाकृत कम होते हैं। यह प्रोटीन और वसा का एक अच्छा स्रोत हैं। इनमे फाइबर की भी अच्छी मात्रा होती हैं।इसके अतिरिक्त इसके विटामिंस जैसे की, विटामिन सी , विटामिन बी 1, विटामिन बी 2 और नियासिन आदि भी होते है। खनिज जैसे की, कैल्शियम, फास्फोरस और लोहे भी इन बीजों में उच्च मात्रा में पाए जाते हैं।
  • चिरौंजी (मेवे के रूप में), एक टॉनिक है। यह मदुर, बलवर्धक, वीर्यवर्धक, वाट और पित्त को कम करने वाली, दिल के लिए अच्छी, विष को नष्ट करने वाली और आम्वर्धक है

 चिरौंजी क़े खास प्रयोग : Chironji Ke fayde

चिरौंजी का पेड़ : चिरौंजी का पेड़ मीठा, खट्टा, भारी, दस्तावर, मलस्तम्भक, चिकना, शीतल, धातुवर्द्धक, कफकारक, दुर्जन, बलकारक और प्रिय होता है तथा यह वात, पित्त, जलन, बुखार, प्यास, घाव, रक्तदोष और टी.बी आदि रोगों को दूर करता है।

चिरौंजी का फल : चिरौंजी का फल फीका और कफकारक होता है तथा रक्तपित्त रोग को नष्ट करता है।

चिरौंजी की गिरी : चिरौंजी की गिरी मधुर होती है तथा यह जलन और पित्त का नाश करती है।

चिरौंजी का तेल : चिरौंजी का तेल मधुर, गर्म, कफ, पित्त और वात को नष्ट करने वाला होता है।

चिरौंजी का तेल :

  1. चिरौंजी बीज, में करीब 50% से अधिक तेल होते हैं, जो की चिरौंजी का तेल नाम से जाना जाता है और उसका प्रयोग कॉस्मेटिक और चिकित्सीय उद्देश्य से किया जाता है।
  2. चिरौंजी का तेल प्रजनन प्रणाली से संबंधित समस्याओं के इलाज के लिए एक कारगर उपाय है। यह कामोद्दीपक aphrodisiac है और इसलिए इसका उपयोग के नपुंसकता impotency, कामेच्छा में कमी low libido, premature ejaculation तथा अन्य यौन sexual और प्रजनन समस्याओं reproductive system related problesm के उपचार में किया जाता है। यह शक्ति strength और यौन क्षमता sexual performance में वृद्धि करता है।                     
  3. चिरौंजी का तेल दर्द, खुजली, प्रिकली हीट, तथा अन्य त्वचा समस्याओं में भी फायदेमंद है। इसे आमवाती सूजन और जोड़ों के दर्द में दर्द वाले हिस्सों पर लगाया जाता है।
  4. इस तेल को गर्दन की ग्रंथियों की सूजन को कम करने में बाहरी रूप से लगाया जाता है।
  5. चिरौंजी का तेल गंजे पन में सिर पर मलते है।

अगले पेज पर पढ़ें चिरौंजी के फायदे एवं उपयोग

LEAVE A REPLY