नपुंसकता की समस्या का घरेलू इलाज : Treatment of Impotence in Hindi : Impotence ka ilaj

0
707

  कैसे दूर करे नपुंसकता 

Impotence ka ilaj


 नपुंसकता के आयुर्वेदिक घरेलु उपचार : Ayurveda Home Remedies of Impotence in Hindi

  • नंपुसकता को ठीक करने के लिए सबसे पहले रोगी व्यक्ति को सेक्स के प्रति गलत भावना तथा गलत आदतों को छोड़ना चाहिए। फिर इस रोग का प्राकृतिक चिकित्सा से उपचार करना चाहिए।
  • नंपुसकता के रोगी को प्रतिदिन अधिक मात्रा में पानी पीना चाहिए ताकि पेशाब अधिक आये और शरीर का दूषित द्रव्य बाहर निकल सके।
  • यदि नपुंसकता के रोगी व्यक्ति को कब्ज की शिकायत है तो उसे एनिमा क्रिया करके पेट को साफ करना चाहिए और फिर इस रोग का प्राकृतिक चिकित्सा से उपचार करना चाहिए।
  • नंपुसकता से पीड़ित रोगी को प्रतिदिन आसमानी रंग की बोतल के सूर्यतप्त तेल की लिंग पर मालिश करनी चाहिए तथा 24 घण्टे में 2 बार ठंडे पानी से स्नान करना चाहिए। स्नान के बाद अपने मेरूदण्ड (रीढ़ की हड्डी) पर पानी की धार गिरानी चाहिए। रोगी व्यक्ति को कम से कम दो सप्ताह के बाद एक दिन पूरे शरीर पर भीगी हुई चादर लपेटनी चाहिए। सुबह के समय में प्रतिदिन कटिस्नान और शाम के समय में मेहनस्नान करना चाहिए। रात को सोते समय कमर पर गीली पट्टी करनी चाहिए। जिसके फलस्वरूप नंपुसकता रोग कुछ ही दिनों में ठीक हो जाता है।
  • रोगी व्यक्ति को सुबह के समय में प्रतिदिन कटिस्नान और शाम को मेहनस्नान कराना चाहिए तथा रात को सोते समय कमर पर गीली पट्टी बांधनी चाहिए जिसके फलस्वरूप यह रोग कुछ ही दिनों में ठीक हो जाता है।
  • नंपुसकता रोग को ठीक करने के लिए आसमानी रंग की बोतल का 200 मिलीलीटर सूर्यतप्त जल तथा गहरे नीले रंग की
  • बोतल के 100 मिलीलीटर सूर्यतप्त जल को आपस में मिला लें। इसमें से 25 मिलीलीटर जल को रोजाना दिन में 8 बार पीने से कुछ ही दिनों में यह रोग ठीक हो जाता है।
  • लाल रंग की बोतल के सूर्यतप्त तेल की मालिश लिंग और कमर पर प्रतिदिन करने तथा लाल रंग का प्रकाश प्रतिदिन आधे घंटे तक लिंग पर डालने से भी यह रोग ठीक हो जाता है।

अगले पेज पर पढ़ें और उपाय…

LEAVE A REPLY