Lord Mahavira Quotes In Hindi | Thoughts of Mahavira : भगवान महावीर स्वामी के शुद्ध विचार एवं प्रसिद्ध कथन

0
532
Lord Mahavira Quotes In Hindi
Lord Mahavira Quotes In Hindi

Lord Mahavira Quotes in Hindi, Lord Mahavira thoughts in hindi, Lord Mahavira ke Suvichar, Lord Mahavira ke  Anmol Vachan, Lord Mahavira Slogans in Hindi, Thoughts of Lord Mahavira In Hindi, Slogans of Lord Mahavira, Quotes By Lord Mahavira, Quotes By Lord Mahavira Best Quotes, भगवान महावीर स्वामी के शुद्ध विचार एवं प्रसिद्ध कथन

Lord Mahavira Quotes In Hindi

Thoughts of Mahavira


अमृतवाणी : आपने कभी किसी का भला किया हो तो उसे भूल जाओ। और कभी किसी ने आपका बुरा किया हो तो उसे भूल जाओ


अमृतवाणी : किसी के अस्तित्व को मत मिटाओ। शांतिपूर्वक जिओ और दुसरो को भी जीने दो


अमृतवाणी : सुखी जीवन जीने के लिए दो बातें हमेशा याद रखें :-
(1) अपनी मृत्यु
(2) भगवान

भगवान महावीर स्वामी के शुद्ध विचारों का यह विडियो जरुर देखें : Lord Mahavira Quotes Video In Hindi

अमृतवाणी :  पर दुख को जो दुख न माने,पर पीड़ा में सदय न हो। सब कुछ दो पर प्रभु किसी को,जग में ऐसा हृदय न दो


Lord Mahavira Quotes In Hindi : शांति और आत्म-नियंत्रण अहिंसा है


Lord Mahavira Quotes In Hindi : हर एक जीवित प्राणी के प्रति दया रखो। घृणा से विनाश होता है


Lord Mahavira Quotes In Hindi : सभी जीवित प्राणियों के प्रति सम्मान अहिंसा है


अमृतवाणी : सभी मनुष्य अपने स्वयं के दोष की वजह से दुखी होते हैं , और वे खुद अपनी गलती सुधार कर प्रसन्न हो सकते हैं


अमृतवाणी : अहिंसा सबसे बड़ा धर्म है


अमृतवाणी : एक व्यक्ति जलते हुए जंगल के मध्य में एक ऊँचे वृक्ष पर बैठा है।  वह सभी जीवित प्राणियों को मरते हुए देखता है।  लेकिन वह यह नहीं समझता की जल्द ही उसका भी यही हश्र  होने वाला है।  वह आदमी मूर्ख है


अमृतवाणी : स्वयं से लड़ो , बाहरी दुश्मन से क्या लड़ना ? वह जो स्वयम पर विजय कर लेगा उसे आनंद की प्राप्ति होगी


अमृतवाणी : आपकी आत्मा से परे कोई भी शत्रु नहीं है। असली शत्रु आपके भीतर रहते हैं, वो शत्रु हैं क्रोध, घमंड, लालच, आसक्ति और नफरत


अमृतवाणी : खुद पर विजय प्राप्त करना लाखों शत्रुओं पर विजय पाने से बेहतर है


अमृतवाणी : आत्मा अकेले आती है अकेले चली जाती है, न कोई उसका साथ देता है न कोई उसका मित्र बनता है


अमृतवाणी : प्रत्येक आत्मा स्वयं में सर्वज्ञ और आनंदमय है। आनंद बाहर से नहीं आता

अमृतवाणी : क्या तुम लोहे की धधकती छड़ सिर्फ इसलिए अपने हाथ में पकड़ सकते हो क्योंकि कोई तुम्हे ऐसा करना चाहता है ? तब , क्या तुम्हारे लिए ये सही होगा कि तुम सिर्फ अपनी इच्छा पूरी करने के लिए दूसरों से ऐसा करने को कहो। यदि तुम अपने शरीर या दिमाग पर दूसरों के शब्दों या कृत्यों द्वारा  चोट बर्दाश्त नहीं कर सकते हो तो तुम्हे दूसरों के साथ अपनों शब्दों  या कृत्यों द्वारा ऐसा करने का क्या अधिकार है ?


Lord Mahavira Quotes In Hindi : आपात स्थिति में मन को डगमगाना नहीं चाहिये


अमृतवाणी : भगवान् का अलग से कोई अस्तित्व नहीं है।  हर कोई सही दिशा में सर्वोच्च प्रयास कर के देवत्त्व प्राप्त कर सकता है


अमृतवाणी : प्रत्येक जीव स्वतंत्र है, कोई किसी और पर निर्भर नहीं करता


अमृतवाणी : किसी आत्मा की सबसे बड़ी गलती अपने असल रूप को ना पहचानना है , और यह केवल आत्म ज्ञान प्राप्त कर के ठीक की जा सकती है


Request : कृपया अपने comments के माध्यम से बताएं कि भगवान महावीर स्वामी के शुद्धविचार का यह संकलन आपको कैसा लगा

If you like Lord Mahavira Quotes In Hindi,

its request to kindly share with your friends on FacebookGoogle+Twitter, and other social media sites

दोस्तों ऐसे अच्छे Post लिखने में काफी समय लगता है, आपके comments से हमारा Motivation Level बढ़ता है आप comment करने के लिए एक मिनट तो निकल ही सकते है

Read Mega Collection of Best Hindi Quotes,Thoughts & Slogans from Great Authors : पढ़िए महापुरषों के सर्वश्रेष्ठ हिंदी शुद्ध विचारों और कथनों का अद्भुत संग्रह

List of all Hindi Quotes : सभी विषयों पर हिंदी शुद्ध विचारों का अद्भुत संग्रह


यह भी पढ़े : सबसे ज्यादा पढ़ी जाने वाली Biography :

यह भी पढ़ें :

यह भी पढ़ें :

LEAVE A REPLY