पेट में गैस की समस्या का घरेलू इलाज : Treatment of Flatulence in Hindi : Pet ki Gas ka ilaj

0
826
Pet ki Gas ka ilaj
Pet ki Gas ka ilaj

पेट में गैस की समस्या का घरेलू इलाज : Treatment of Flatulence in Hindi : Pet ki Gas ka ilaj

क्या है : पेट की गैस ? 

Treatment of Flatulence in Hindi 

Pet ki Gas ka ilaj


पेट में हवा भरने को आध्मान, उदर-वायु, आफरा आना, गैस भरना, गैस बनना, वायु इकट्ठी होना कहते हैं। उदर-वायु एक ऐसी स्थिति है, जिसमें पेट में में वायु एकत्रित होती है। आतों और पेट दोनों में एक साथ वायु अपच, कब्ज के कारण एकत्रित होती है। वायु निगलने से जो वायु पेट में एकत्रित होती है उसे स्नायविक उदर-वायु कहते हैं।

गर्भावस्था में वायु एकत्रित होने से बहुत बेचैनी होती है। पेट में अधिक वायु एकत्रित होने से पेट फूल (Distension) जाता है। कभी हृदय में फड़फड़ाहट (Fluttering) होने लगती है और लोग इसे हृदय रोग समझ लेते हैं। यह पेट की खराबी से होता है। कभी पेट सख्त हो जाता है।

स्वस्थ रहने के लिए भोजन में मसाले भी आवश्यक हैं। प्राय: हल्दी, धनिया, नमक, मिर्च मसालों के रूप में प्रयोग किये ही जाते हैं। हींग भूनकर सेवन करने से वायु (वात) प्रकृति, जीरा पित्त प्रकृति एवं गर्म मसाले कफ प्रकृति को ठीक रखते हैं। रूखा भोजन वायु को बढ़ाता है। पेट में वायु (Gas formation) अधिक रूखे भोजन के कारण बनती है। जिनको वायु (Gas) अधिक बनती है, भोजन में चिकनाई, तेल, घी का प्रयोग करना चाहिये। रूखे भोजन का प्रयोग माँसाहारी करते हैं, क्योंकि माँस में चर्ब का आधिक्य होता है। भोजन में मसालेयुक्त सब्जियाँ घी, दूध, दही, मीठा शामिल हो तो यह श्रेष्ठ भोजन है।

अगले पेज पर पढ़ें पेट की गैस से पैदा होने वाले रोग

LEAVE A REPLY