Sri Sri Ravi Shankar Quotes In Hindi : श्री श्री रविशंकर के सुविचार एवं अनमोल वचन

0
187
Sri Sri Ravi Shankar Quotes In Hindi
Sri Sri Ravi Shankar Quotes In Hindi

Sri Sri Ravi Shankar Quotes in Hindi, Sri Sri Ravi Shankar thoughts in hindi, Sri Sri Ravi Shankar ke Suvichar, Sri Sri Ravi Shankar ke  Anmol Vachan, Sri Sri Ravi Shankar Slogans in Hindi, Thoughts of Sri Sri Ravi Shankar In Hindi, Slogans of Sri Sri Ravi Shankar, Quotes By Sri Sri Ravi Shankar, Quotes By Sri Sri Ravi Shankar Best Quotes, श्री श्री रविशंकर के सुविचार एवं अनमोल वचन

Sri Sri Ravi Shankar Quotes In Hindi

श्री श्री रविशंकर के शुद्ध विचार एवं प्रसिद्ध कथन


श्री श्री रवि शंकर की अमृतवाणी : “प्रेम कोई भावना नहीं है, यह आपका अस्तित्व है”

श्री श्री रवि शंकर की अमृतवाणी : “मैं आपसे बताता हूँ, आपके भीतर एक परमानंद  का फव्वारा है, प्रसन्नता का झरना है. आपके मूल के भीतर सत्य,प्रकाश, प्रेम है, वहां कोई अपराध बोध नहीं है, वहां कोई डर नहीं है. मनोवैज्ञानिकों ने कभी इतनी गहराई में नहीं देखा”

श्री श्री रवि शंकर की अमृतवाणी : “श्रद्धा यह समझने में है कि आप हमेशा वो पा जाते हैं जिसकी आपकी ज़रुरत होती है”

श्री श्री रवि शंकर की अमृतवाणी : “आज भगवान का दिया हुआ एक उपहार है इसीलिए इसे “प्रेजेंट” कहते हैं”

श्री श्री रवि शंकर की अमृतवाणी : “मानव विकास के दो चरण हैं कुछ होने से कुछ ना होना और कुछ ना होने से सबकुछ होना यह ज्ञान दुनिया भर में योगदान और देखभाल ला सकता है”

श्री श्री रवि शंकर की अमृतवाणी : “जब आप अपना दुःख बांटते हैं, वो कम नहीं होता जब आप अपनी ख़ुशी बांटने से रह जाते हैं, वो कम हो जाती है, अपनी समस्याओं को सिर्फ ईश्वर से सांझा करें, और किसी से नहीं, क्योंकि ऐसा करना सिर्फ आपकी समस्या को बढ़ाएगा ,अपनी ख़ुशी सबके साथ बांटें”

श्री श्री रवि शंकर की अमृतवाणी : “दूसरों को सुनो, फिर भी मत सुनो ,अगर तुम्हारा दिमाग उनकी समस्याओं में उलझ जाएगा, ना सिर्फ वो दुखी होंगे, बल्कि तुम भी दुखी हो जओगे”

श्री श्री रवि शंकर की अमृतवाणी : “जीवन ऐसा कुछ नहीं है, जिसके प्रति बहुत गंभीर रहा जाए  जीवन तुम्हारे हाथों में खेलने के लिए एक गेंद है, गेंद को पकड़े मत रहो”

श्री श्री रवि शंकर की अमृतवाणी : “हमेशा राम की चाहत में तुम आलसी हो जाते हो, हमेशा पूर्णता की चाहत में तुम क्रोधित हो जाते हो, हमेशा अमीर बनने की चाहत में तुम लालची हो जाते हो”

श्री श्री रवि शंकर की अमृतवाणी : “बुद्धिमान वो है जो औरों की गलती से सीखता है, थोडा कम बुद्धिमान वो है जो सिर्फ अपनी गलती से सीखता है  मूर्ख एक ही गलती बार बार दोहराते रहते हैं और उनसे कभी सीख नहीं लेते”

श्री श्री रवि शंकर की अमृतवाणी : “ज्ञान बोझ  है  यदि  वह  आपके  भोलेपन  को  छीनता  है, ज्ञान  बोझ  है  यदि  वह  आपके  जीवन  मे  एकीकृत  नहीं  है, ज्ञान  बोझ  है  यदि  वह  प्रसन्नता  नही  लाता” “ज्ञान  बोझ  है  यदि  वह  आपको  यह  विचार  देता  है  कि  आप  बुद्धिमान  हैं  ज्ञान  बोझ  है, यदि  वह  आपको  स्वतंत्र  नहीं  करता, ज्ञान  बोझ  है  यदि  वह  आपको  यह  प्रतीत  कराता  है  कि  आप  विशेष  हैं”

श्री श्री रवि शंकर की अमृतवाणी : “ किसी  ऐसे  से  प्रेम  करना  जिसे  तुम  चाहते  हो  नगण्य है, किसी  से इसलिए  प्रेम  करना  क्योंकि  वो  तुमसे  प्रेम  करता  है  महत्त्वहीन  है, किसी  ऐसे  से  प्रेम  करना  जिसे  तुम  नहीं  चाहते, मतलब  तुमने  जीवन  का  एक  सबक  सीख  लिया  है किसी ऐसे  से  प्रेम  करना  जो  बिना  वजह  तुम  पर  दोष  मढ़े दर्शाता  है  कि तुमने  जीने  की  कला  सीख  ली  है”

श्री श्री रवि शंकर की अमृतवाणी : “एक  निर्धन  व्यक्ति  नया  साल  वर्ष  में  एक  बर  मनाता  है, एक  धनाड्य   व्यक्ति  हर  दिन, लेकिन  जो  सबसे  समृद्ध   होता  है  वह हर  क्षण  मनाता  है”

श्री श्री रवि शंकर की अमृतवाणी : “अपने  कार्य  के  पीछे  की  मंशा  को देखो, अक्सर  तुम  उस  चीज  के  लिए  नहीं  जाते  जो  तुम्हे  सच  में  चाहिए”

श्री श्री रवि शंकर की अमृतवाणी : “ यदि  तुम  लोगों  का  भला  करते  हो, तुम  अपनी  प्रकृति की  वजह  से  करते  हो”

श्री श्री रवि शंकर की अमृतवाणी : “ स्वर्ग  से  कितना  दूर? बस  अपनी  आँखें  खोलो   और  देखो, तुम  स्वर्ग  में  हो”

श्री श्री रवि शंकर की अमृतवाणी : “ तुम  दिव्य हो, तुम  मेरा  हिस्सा  हो, मैं  तुम्हारा  हिस्सा  हूँ”

श्री श्री रवि शंकर की अमृतवाणी : “तुम्हे सर्वोच्च आशीर्वाद  दिया  गया  है, इस  गृह  का  सबसे  अनमोल  ज्ञान  दिया  गया  है,  तुम  दिव्य हो, तुम  परमात्मा  का  हिस्सा  हो, विश्वास  के  साथ  बढ़ो, यह  अहंकार  नहीं  है, यह  पुनः प्रेम  है”

श्री श्री रवि शंकर की अमृतवाणी : “ तुम्हारा  मस्तिष्क   भागने  की  सोच  रहा  है  और  उस अस्तर  पर  जाने  का  प्रयास  नहीं  कर  रहा  है  जहाँ गुरु  ले  जाना  चाहते  हैं, तुम्हे  उठाना  चाहते  हैं”

श्री श्री रवि शंकर की अमृतवाणी : “ चाहत, या  इच्छा  तब  पैदा  होती  है  जब  आप  खुश  नहीं  होते, क्या  आपने  देखा  है? जब  आप  बहुत  खुश  होते  हैं  तब  संतोष  होता  है, संतोष  का  अर्थ  है  कोई  इच्छा  ना  होना”

श्री श्री रवि शंकर की अमृतवाणी : “इच्छा  हमेशा  मैं  पर  लटकती  रहती  है, जब  स्वयं  मैं  लुप्त  हो  रहा  हो, इच्छा  भी  समाप्त  हो  जाती  है, ओझल  हो  जाती  है”

श्री श्री रवि शंकर की अमृतवाणी : “हर एक  चीज  के  पीछे  तुम्हारा  अहंकार  है : मैं, मैं, मैं, मैं, लेकिन  सेवा  में  कोई  मैं  नहीं  है, क्योंकि  यह  किसी  और  के  लिए  करनी  होती है”

Sri Sri Ravi Shankar Quotes In Hindi : “दूसरों  को  आकर्षित  करने  में  काफी  उर्जा  बर्वाद  होती  है, और  दूसरों  को  आकर्षित  करने  की  चाहत  में – मैं  बताता  हूँ, विपरीत  होता  है”

Sri Sri Ravi Shankar Quotes In Hindi : “तो  क्या  अगर  कोई  तुम्हे  पहचानता  है  : ओह,  तुम  एक  शानदार  व्यक्ति  हो, तो  क्या ? उस  व्यक्ति  के  दिमाग  में  वो  विचार  आया  और  गया, वह  भी  ख़त्म  हो  गया, वो  विचार  चला  गया, हो  सकता  है  कि   कुछ  दिन, कुछ  महीने  वो  तुम्हारे  प्रति  आकर्षित  रहे, तो  क्या ? वो  भी  चला  जाता  है, ये  भी  चला  जाता  है”

Sri Sri Ravi Shankar Quotes In Hindi : “ स्वयं  अध्यन  कर  के, देख  कर, खोखले  और  खली  होकर, तुम  एक  माध्यम  बन  जाते  हो – तुम  परमात्मा  का  अंश   बन  जाते  हो . तुम  देवत्त्व   की  उपस्थिति को  महसूस  कर  सकते  हो, सभी  स्वर्गदूत  और  देवता, हमारी  चेतना  के  ये  विभिन्न  रूप खिलने  लगते  हैं”

Sri Sri Ravi Shankar Quotes In Hindi : “तुम्हारे  अन्दर  कोई  भावना  आई, अप्रिय  भावना, और  तुमने  कहा, नहीं  आनी  चाहिए, ये  फिर  से  नहीं  आनी  चाहिए, ऐसा  करके  तुम  उसका  विरोध  कर  रहे  हो, जब  तुम  विरोध  करते  हो, वो  कायम  रहती  है, बस  देखो, ओह ! उसकी  गहराई  में  जाओ, नाचो, अपने  पैरों  पर  खड़े  हो  और  नाचो, मस्ती  में  रहो, मस्ती  में  चलो”


Request : कृपया अपने comments के माध्यम से बताएं कि श्री श्री रविशंकर के शुद्धविचार का यह संकलन आपको कैसा लगा

If you like Sri Sri Ravi Shankar Quotes In Hindi, its request to kindly share with your friends on FacebookGoogle+Twitter, and other social media sites

दोस्तों ऐसे अच्छे Post लिखने में काफी समय लगता है, आपके comments से हमारा Motivation Level बढ़ता है आप comment करने के लिए एक मिनट तो निकाल ही सकते है

Read Mega Collection of Best Hindi Quotes,Thoughts & Slogans from Great Authors : पढ़िए महापुरषों के सर्वश्रेष्ठ हिंदी शुद्ध विचारों और कथनों का अद्भुत संग्रह

List of all Hindi Quotes : सभी विषयों पर हिंदी शुद्ध विचारों का अद्भुत संग्रह


यह भी पढ़ें :

यह भी पढ़ें :

LEAVE A REPLY